एस्ट्रिक्स और ज्योतिषी

Thursday, July 29, 2010 by: PBC


जहाँ तक मुझे याद है, हिंदी में कुल मिला कर मात्र ६ एस्ट्रिक्स प्रकाशित हुए थे| मेरा परिचय एस्ट्रिक्स  से हिंदी के ही माध्यम से हुआ है| सबसे पहली हिंदी एस्ट्रिक्स थी, "एस्ट्रिक्स ओलिंपिक खेलों में", जिसने मुझे इस पात्र का आजीवन दीवाना बना दिया| मुझे याद है कोई अगस्त या सितम्बर १९८२ की बात है, एक दुकान पर इंद्रजाल और कुछ अमर चित्र कथा खरीद रहा था| पास में कुछ  इंगलिश एस्ट्रिक्स भी थी, जिनकी कीमत कोई ५० रूपये और साथ में ही हिंदी ५ रूपये मात्र की| उठा कर  देखा,  कागज साधारण लेकिन कॉमिक मजेदार लगी| खरीद कर घर लाया, कितनी बार पढ़ा होऊंगा, कह नहीं सकता| फिर शुरू हो गयी हर अगले अंकों की तलाश|

अनुराग भाई के पास उपलब्ध पांच में से  तीन पहले ही पोस्ट कर चूका हूँ | आज प्रस्तुत है एक और  विरल  हिंदी  एस्ट्रिक्स:  "एस्ट्रिक्स और  ज्योतिषी"| संवादों का अनुवाद प्रसंसनीय है|
  • १९७२ - मूल प्रकाशन  फ्रांसीसी भाषा में और मूल श्रृंखला में उन्नीसवीं (अब तक केवल ३४) कॉमिक
  • १९८३ - प्रथम हिंदी प्रकाशन (अभी तक आखरी भी ), हिन्दी एस्ट्रिक्स श्रृंखला में तीसरी कॉमिक 
यह कहानी है एक ऐसे प्रपंची की जो एक ज्योतिषी (भविष्यवक्ता) का ढोंग कर सीघे-साधे गालवासियों से खूब पैसा बनाता है| कुछ समय तक "बांटो और राज करो" नीति सफल होती है| लेकिन अपनी ही करणी का फल पहले से भी बुरी तरह भुगतता है, और जहाँ  एस्ट्रिक्स महाशय हों - कुछ और भी हो सकता था क्या? बोया  पेड़  बबूल  का , आम  कहाँ  से  खाय|

Download

          
 उम्मीद है आप इस कॉमिक्स को पसंद करेंगे|
श्रेय: स्कैनिंग का कार्य इस अंक के संग्राहक खुद अनुराग दीक्षित द्वारा और स्वच्छिकरण मेरे  द्वारा किया गया है|